आरबीआई ने 2000 रुपये के नोट को सर्कुलेशन से हटा लिया है | RBI Withdraws INR 2000 Notes From Circulation

 आरबीआई ने 2000 रुपये के नोट को सर्कुलेशन से हटा लिया है | RBI Withdraws INR 2000 Notes From Circulation

Table of Contents

आरबीआई ने 2000 रुपये के नोट को सर्कुलेशन से हटा लिया है | RBI Withdraws INR 2000 Notes From Circulation

Highlights 

  • INR 2,000 नोटों के लिए एक्सचेंज सुविधा मुफ्त में उपलब्ध की जाएगी।
  • वरिष्ठ नागरिकों, विकलांग व्यक्तियों आदि के लिए विनिमय और जमा के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी।
  • बैंकों को निर्देश दिया गया है कि वे INR 2,000 नोटों को बदलने/जमा करने की मांग करने वाली असुविधाओं को कम करने के लिए व्यवस्था करें।
  • जनता को सुझाव दिया जाता है कि वे इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए चार महीने से अधिक की अवधि के भीतर इसका उपयोग करें।
  • यदि कोई तुरंत INR 2,000 नोटों को जमा या बदल नहीं सकता है, तो उसे अपने संबंधित बैंक से संपर्क करने की सलाह दी जाती है।
  • सेवा में कमी के मामले में, शिकायतकर्ता को पहले बैंक से संपर्क करके शिकायतों के निवारण के लिए सलाह दी जाती है।
  • यदि बैंक 30 दिनों के भीतर उत्तर नहीं देता है या यदि शिकायतकर्ता बैंक के उत्तर/संकल्प से संतुष्ट नहीं है, तो वे आरबीआई की रिज़र्व बैंक-एकीकृत लोकपाल योजना (आरबीआई आईओएस) के तहत शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

ये मुख्य बिंदुए उन सभी पहलुओं का संक्षेप हैं जिनकी चर्चा की गई थी, जैसे INR 2,000 नोटों के एक्सचेंज और जमा की सुविधा और वरिष्ठ नागरिकों और विकलांग व्यक्तियों के लिए विशेष व्यवस्थाएं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने केंद्रीय बैंक की स्वच्छ नोट नीति का पालन करते हुए निर्णय लिया है कि 2,000 रुपये के नोटों को संचालन से वापस ले लिया जाएगा। आरबीआई ने इसके बारे में बताया है कि 2,000 रुपये के मूल्यांकन वाले बैंक नोट अब भी मान्य मुद्रा के रूप में रहेंगे, जिसका मतलब है कि उपभोक्ता इन नोटों का उपयोग करके सामान खरीद सकेगा।

भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 24 (1) के तहत, 2016 में INR 2,000 मूल्यवर्ग के बैंक नोट जारी किए गए थे, यह उस समय हुआ जब सभी INR 500 और INR 1,000 बैंक नोटों की कानूनी निविदा स्थिति वापस लेने के बाद थी। 2016 में INR 500 और INR 1,000 के नोटों के विमुद्रीकरण ने बैंकिंग प्रणाली को परेशान किया क्योंकि भारतीय ने अपने नोटों को कानूनी मुद्रा में बदलने के लिए बैंक शाखाओं और एटीएमों का उपयोग किया था, और यह अचानक हुए कदम ने कई नागरिकों को नाराजगी में डाल दिया और इस कदम की अनपेक्षितता ने कई लोगों को निराश कर दिया।

यद्यपि, INR 2,000 के नोटों की वापसी नोटों के विमुद्रीकरण के द्वारा हुई नहीं है और यह आरबीआई द्वारा पहले किए गए कदमों के समान है। आरबीआई ने 2013-2014 में, 2005 से पहले जारी किए गए सभी नोटों को संचालन से वापस ले लिया था और लोगों को बैंकों से संपर्क करके उन नोटों को बदलने की जरूरत पड़ी थी। रिजर्व बैंक ने उस समय भी स्पष्ट किया था कि 2005 से पहले जारी किए गए नोट कानूनी माध्यम के रूप में मान्य रहेंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एक प्रेस बयान में यह बताया है कि इनर 2000 के नोटों को पेश करने की आवश्यकता पूरी हो जाने के बाद उनकी छपाई बंद कर दी गई है। आरबीआई ने बताया है कि इन नोटों का उपयोग आमतौर पर लेनदेन के लिए नहीं किया जाता है और अन्य मूल्यवर्ग के बैंकनोटों की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध है। इसलिए, भारतीय नागरिकों को अपने INR 2000 के नोटों को बदलने के लिए कुछ संबंधित चरणों का पालन करना होगा। यह नोट अभी भी मान्य मुद्रा के रूप में रहेंगे, इसलिए उपभोक्ता इन नोटों का उपयोग करके सामान खरीद सकते हैं।

  1. यदि आपके पास INR 2000 के नोट हैं और आप उन्हें बदलना चाहते हैं, तो आप निम्नलिखित चरणों का पालन कर सकते हैं:
  2. आप अपने बैंक खाते में INR 2000 के नोटों को जमा कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी बैंक शाखा में जाना होगा और निकटतम जमा काउंटर का उपयोग करके जमा करना होगा। यहां पर आपको अपने नोटों की जांच के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज़ों की आवश्यकता हो सकती है।
  3. आपको एक बैंक शाखा में जाकर INR 2000 के नोटों को अन्य मूल्यवर्ग के बैंकनोटों में बदलने के लिए अनुरोध कर सकते हैं। आपको निकटतम विनिमय काउंटर का उपयोग करके इसका प्रयास करना होगा। बैंक शाखा आपको आवश्यक निर्देश और दस्तावेज़ों की जांच करेगी और फिर आपको अन्य मूल्यवर्ग के बैंकनोटों में विनिमय किया जाएगा।
  4. 23 मई, 2023 से किसी भी बैंक में एक समय में 2,000 रुपये के नोटों को अन्य मूल्यवर्ग के बैंकनोटों में बदलने की सीमा 20,000 रुपये तक हो सकती है। इसलिए, आप 20,000 रुपये तक के नोटों के लिए विनिमय करवा सकते हैं। यह सीमा 30 सितंबर, 2023 तक लागू होगी।

ध्यान दें कि ये चरण संबंधित बैंकों के नियमों और नियमानुसार अपनाए जाएंगे, इसलिए आपको बैंक शाखा में जाकर अद्यतित और सटीक जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

आपके प्रश्नों के जवाब निम्नलिखित रूप में दिए गए हैं:

INR 2,000 बैंक नोटों की कानूनी निविदा स्थिति क्या है?

हां, INR 2,000 बैंक नोट अपनी कानूनी निविदा स्थिति को बनाए रखेगा। इसका मतलब है कि यह नोट अभी भी मान्य मुद्रा के रूप में रहेगा और लोग इसका उपयोग कर सकेंगे।

क्या सामान्य लेनदेन के लिए INR 2,000 के नोटों का उपयोग किया जा सकता है?

हां, लोग सामान्य लेन-देन के लिए INR 2,000 के नोटों का उपयोग कर सकते हैं। वे इन नोटों का उपयोग करके सामान खरीद सकते हैं और भुगतान प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि, यह ध्यान देने योग्य है कि लोगों को 30 सितंबर, 2023 से पहले इन नोटों को जमा करने और/या बदलने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

जनता को अपने पास मौजूद 2,000 रुपये के नोटों का क्या करना चाहिए?

लोगों को अपने पास मौजूद 2,000 रुपये के नोटों को बैंक शाखाओं से जमा करने और/या बदलने के लिए संपर्क करना चाहिए। इसके लिए वे अपनी नजदीकी बैंक शाखा का उपयोग कर सकते हैं।

ध्यान दें कि 30 सितंबर, 2023 तक नोटों को खातों में जमा करने और INR 2,000 के बैंक नोटों को बदलने की सुविधा सभी बैंकों में उपलब्ध होगी। विनिमय की सुविधा 30 सितंबर, 2023 तक आर्बीआई के 19 क्षेत्रीय कार्यालयों (आरओ) में भी उपलब्ध होगी, जिनके निर्गम विभाग1 हैं।

क्या बैंक खाते में INR 2,000 के नोट जमा करने की कोई सीमा है?

बैंक खाते में INR 2,000 के नोट जमा करने की कोई सीमा नहीं है। जनता को विनिमय सुविधा के तहत अपने बैंक खाते में इन नोटों को जमा करने में कोई प्रतिबंध नहीं होगा।

क्या 2,000 रुपये के बैंक नोटों की विनिमय करने की राशि पर कोई परिचालन सीमा है?

2,000 रुपये के बैंक नोटों की विनिमय करने की राशि पर कोई परिचालन सीमा है। जनता के सदस्य एक समय में INR 20,000/- की सीमा तक 2,000 बैंक नोटों का आदान-प्रदान कर सकते हैं। इससे अधिक की राशि के लिए विनिमय के लिए अन्य विधियां अपनानी होगी।

क्या 2,000 रुपये के नोटों को बिजनेस कॉरेसपोंडेंट (बीसी) के माध्यम से बदला जा सकता है?

2,000 रुपये के नोटों को बिजनेस कॉरेस्पॉंडेंट (बीसी) के माध्यम से बदला जा सकता है। एक खाताधारक के लिए INR 2,000 के नोटों का विनिमय बीसी के माध्यम से प्रतिदिन INR 4,000/- की सीमा तक किया जा सकता है।

एक्सचेंज की सुविधा किस तारीख से उपलब्ध होगी?

विनिमय सुविधा 23 मई, 2023 से बैंक शाखाओं या आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों से संपर्क करके लाभ उठाने के लिए उपलब्ध होगी।

क्या बैंक की शाखाओं से INR 2,000 के नोटों को बदलने के लिए बैंक का ग्राहक होना आवश्यक है?

बैंक की शाखाओं से INR 2,000 के नोटों को बदलने के लिए बैंक का ग्राहक होना आवश्यक नहीं है। एक गैर-खाताधारक भी किसी भी बैंक शाखा में एक समय में 20,000/- रुपये की सीमा तक 2,000 रुपये के नोट बदल सकता है।

क्या होगा यदि किसी को व्यवसाय या अन्य उद्देश्यों के लिए INR 20,000/- से अधिक की आवश्यकता है?

यदि किसी को व्यवसाय या अन्य उद्देश्यों के लिए INR 20,000/- से अधिक की आवश्यकता हो, तो वे बैंक खातों में नोट जमा कर सकते हैं। INR 2,000 के नोटों को बैंक खातों में जमा करने के बाद, उनके पास उपलब्ध नकद आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वे नकद निकासी कर सकते हैं।

क्या एक्सचेंज सुविधा के लिए कोई शुल्क देना होगा?

नहीं, विनिमय सुविधा नि:शुल्क प्रदान की जाएगी। यानी, आपको किसी भी शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा जब आप INR 2,000 के नोटों को बदलें या जमा करें।

क्या वरिष्ठ नागरिकों, विकलांग व्यक्तियों आदि के लिए विनिमय और जमा के लिए विशेष व्यवस्था होगी?

हां, बैंकों को निर्देश दिया गया है कि वे वरिष्ठ नागरिकों, विकलांग व्यक्तियों आदि के लिए विनिमय और जमा करने की सुविधा में विशेष व्यवस्था करें। इससे उनकी असुविधाएं कम होंगी और उन्हें सहायता मिलेगी।

क्या होगा यदि कोई तुरंत 2,000 रुपये के नोटों को जमा या बदल नहीं सकता है?

अगर कोई तुरंत अपने पास मौजूद 2,000 रुपये के नोटों को जमा या बदलने के लिए नहीं कर सकता है, तो पूरी प्रक्रिया को जनता के लिए सुविधाजनक बनाने के लिए 2,000 रुपये के नोट जमा करने और/या बदलने के लिए चार महीने से अधिक की अवधि दी गई है। इसलिए, जनता को अपने नोटों को बदलने के लिए प्रासंगिक समय में बैंक शाखाओं से संपर्क करने की सलाह दी जाती है।

क्या होगा यदि कोई बैंक 2,000 रुपये के नोटों को बदलने या जमा करने से मना कर दे?

यदि कोई बैंक 2,000 रुपये के नोटों को बदलने या जमा करने से मना करता है, तो शिकायतकर्ता या पीड़ित ग्राहक पहले संबंधित बैंक से संपर्क कर सकते हैं। यदि बैंक 30 दिनों के भीतर उत्तर नहीं देता है या यदि शिकायतकर्ता बैंक द्वारा दिए गए जवाब/संकल्प से संतुष्ट नहीं है, तो शिकायतकर्ता आरबीआई के तहत रिज़र्व बैंक-एकीकृत लोकपाल योजना (आरबी-आईओएस), 2021 के शिकायत प्रबंधन प्रणाली पोर्टल पर शिकायत दर्ज कर सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों (FAQ) 

Q: क्या INR 2,000 नोटों को बदलने/जमा करने के लिए एक्सचेंज शुल्क देना होगा?

A: नहीं, एक्सचेंज सुविधा मुफ्त में उपलब्ध है।

Q: क्या वरिष्ठ नागरिकों, विकलांग व्यक्तियों आदि के लिए विनिमय और जमा के लिए विशेष व्यवस्था है?

A: हाँ, उनकी सुविधा को ध्यान में रखते हुए विशेष व्यवस्था है।

Q: क्या मुझे अपने पास के 2,000 रुपये के नोटों को जमा या बदलने के लिए किसी निशेष समय तक इंतजार करना चाहिए?

A: हाँ, आपको चार महीने से अधिक की अवधि में इस सुविधा का उपयोग करना चाहिए।

Q: यदि मैं तुरंत अपने 2,000 रुपये के नोटों को जमा या बदल नहीं सकता, तो मुझे क्या करना चाहिए?

A: आपको अपने संबंधित बैंक से संपर्क करना चाहिए और उन्हें अपनी समस्या के बारे में सूचित करना चाहिए।

Twspost news times

Leave a Comment

Discover more from Twspost News Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading