खूंटी के प्राचीन महादेव मंडा परिसर में आगामी 5 अप्रैल 2022को विहंगम योग के प्रनेता सद्गुरु स्वतंत्र देव जी महाराज का पदार्पण है उस कार्य को सफल बनाने के लिए जोर शोर से प्रचार प्रसार जारी

khunti

खूंटी: खूंटी के प्राचीन महादेव मंडा परिसर में आगामी 5 अप्रैल 2022को विहंगम योग के प्रनेता सद्गुरु स्वतंत्र देव जी महाराज का पदार्पण है उस कार्य को सफल बनाने के लिए जोर शोर से प्रचार प्रसार जारी है कार्यक्रम में सद्गुरु स्वतंत्र देव जी महाराज का एवं संत प्रवर विज्ञान देव जी महाराज का झारखंड के रीति रिवाज के अनुसार स्वागत करते हुए प्राचीन महादेव मंडा में ले जाया जाएगा तदुपरांत खूंटी जिला में पहली बार 501 विश्वशांति वैदिक महायज्ञ का कार्यक्रम 10:00 बजे से किया जाएगा उसके उपरांत भंडारा का कार्यक्रम है शाम को 5:00 बजे से श्री संत प्रवर विज्ञान देव जी महाराज के द्वारा दिव्य वाणी का कार्यक्रम किया जाएगा शाम को 7:00 बजे से सद्गुरु स्वतंत्र देव जी महाराज का मुखारविंद से अमृतवाणी किया जाएगा यह कार्यक्रम एक दिवसीय 5 अप्रैल को निश्चित किया गया है उक्त कार्यक्रम  पूर्ण तरह से सफल बनाने के लिए खूंटी जिला के विहंगम योग संत समाज द्वारा भरपूर प्रयास किया जा रहा है आज सद्गुरु के अनन्य चरण शिष्य श्रीमती शांति विश्वकर्मा के द्वारा पूर्व लोकसभा उपाध्यक्ष संसद श्री कड़िया मुंडा जी को मातृशक्ति के द्वारा कार्यक्रम में समलित होने के लिए तथा मुरहू प्रखंड के आध्यात्मिक विद्या मेही आश्रम के लक्ष्मण बाबा को भी संत समाज के जितेंद्र कश्यप द्वारा निमंत्रण दिया गया बाबा लक्ष्मण ने स्वीकार करते हुए उक्त कार्यक्रम में अपने शिष्यों के साथ उपस्थित होने का स्वीकार प्रदान किए । 


प्राचीन महादेव मंडा परिसर खूँटी 

Map of Mahadev Manda Khunti

खूंटी के प्राचीन महादेव मंडा परिसर में आगामी 5 अप्रैल 2022को विहंगम योग के प्रनेता सद्गुरु स्वतंत्र देव जी महाराज का पदार्पण है उस कार्य को सफल बनाने के लिए जोर शोर से प्रचार प्रसार जारी

Mahadev Manda Khunti (महादेव मांडा खूंटी)

Hindu temple in Khunti, Jharkhand

Address37FC+3P, Pasha Colony, Khunti, Jharkhand 835210

Hours

Add missing information
Know this place?Share the latest info

Twspost news times

Leave a Comment

Discover more from Twspost News Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading