गुरु गोचर 2023 : बृहस्पति का गोचर इन राशियों के लोगों को कैसे लाभ पहुंचा सकता है, जानें पूर्वानुमान

ग्रह गोचर • वैदिक ज्योतिष में गोचर

वैदिक ज्योतिष में ग्रह गोचर, या ग्रह गोचर, राशि चक्र के माध्यम से ग्रहों की गति को संदर्भित करता है और इसका हमारे जीवन पर प्रभाव माना जाता है। नाक्षत्र प्रणाली, जो स्थिर तारों की पृष्ठभूमि के विरुद्ध ग्रहों की गति को ध्यान में रखती है, भारतीय ज्योतिष में प्रयोग की जाती है। इस प्रणाली को पश्चिमी ज्योतिष में प्रयुक्त होने वाली उष्णकटिबंधीय प्रणाली की तुलना में अधिक सटीक कहा जाता है।

पाश्चात्य ज्योतिष (उष्णकटिबंधीय) आधारित गोचर तिथियों और समय के लिए, ग्रह गोचर → पर जाएँ

आगामी प्रमुख गोचर – नाक्षत्र ज्योतिष

यहां आने वाले दिनों में होने वाले प्रमुख ग्रह गोचरों की सूची दी गई है। चंद्र गोचर तिथियों के लिए, चंद्र गोचर → पर जाएँ

  • 07 जून, बुधवारबुध का वृषभ राशि में प्रवेश 07:52 PM पर
  • 15 जून, गुरुवारसूर्य का प्रवेश मिथुन राशि में सायं 06 बजकर 20 मिनट पर होगा
  • 24 जून, शनिवारबुद्ध दोपहर 12:45 बजे मिथुन राशि में प्रवेश करता है
  • 2023 में सभी पारगमन →

    उज्जैन, मध्य प्रदेश, भारत(+05:30)

    2023 गृह गोचर तिथियां और समय। गोचर का समय स्थान विशिष्ट है। उज्जैन, मध्य प्रदेश, भारत के लिए पारगमन समय दिखा रहा है। स्थान बदलें →

  • 02 जनवरी, सोमवार 2023चंद्र का वृषभ राशि में प्रवेश 08:52 PM पर
  • जनवरी 05, गुरुवार 2023 चंद्र का प्रवेश मिथुन राशि में प्रातः 08:06 बजे होता है
  • 07 जनवरी, शनिवार 2023 चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 08:24 PM पर होगा
  • जनवरी 10, मंगलवार 2023 चंद्र का प्रवेश 09:01 AM को सिंह राशि में होगा
  • 12 जनवरी, गुरुवार 2023 को चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश रात्रि 09:00 बजे होगा
  • 14 जनवरी, शनिवार 2023सूर्य 08:49 PM पर मकर राशि में प्रवेश करता है
  • 15 जनवरी, रविवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश प्रातः 06:48 बजे होगा
  • जनवरी 17, मंगलवार 2023चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश दोपहर 01:00 बजे शनि का कुम्भ राशि में प्रवेश 06:40 बजे
  • सभी पारगमन देखें →

  • फरवरी 01, बुधवार 2023 चंद्र का मिथुन राशि में प्रवेश 01:59 अपराह्न
  • 04 फरवरी, शनिवार 2023 चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 02:32 AM पर होगा
  • फरवरी 06, सोमवार 2023चंद्र दोपहर 03:03 बजे सिंह राशि में प्रवेश करता है
  • फरवरी 07, मंगलवार 2023 बुध प्रातः 07:31 बजे मकर राशि में प्रवेश करेगा
  • 09 फरवरी, गुरुवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 02:49 AM को होगा
  • 11 फरवरी, शनिवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश दोपहर 01:03 बजे
  • 13 फरवरी, सोमवार 2023सूर्य का कुम्भ राशि में प्रवेश 09:48 AM को चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश 08:37 PM पर
  • सभी पारगमन देखें →

  • 03 मार्च, शुक्रवार 2023 चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 08:58 AM पर होगा
  • मार्च 05, रविवार 2023चंद्र रात 09:30 बजे सिंह राशि में प्रवेश करता है
  • 08 मार्च, बुधवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 08:53 AM पर होगा
  • 10 मार्च, शुक्रवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश 06:37 PM पर होगा
  • 12 मार्च, रविवार 2023 शुक्र सुबह 08:30 बजे मेशा राशि में प्रवेश करता है
  • 13 मार्च, सोमवार 2023 चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश 02:19 AM को मंगल मिथुन राशि में 05:12 AM को प्रवेश करता है
  • 15 मार्च, बुधवार 2023सूर्य का मीना राशि में प्रवेश 06:38 पूर्वाह्न चंद्र का धनु राशि में प्रवेश 07:34 पूर्वाह्न
  • सभी पारगमन देखें →

  • 02 अप्रैल, रविवार 2023 चंद्र सिंह राशि में 04:48 AM पर प्रवेश करता है
  • अप्रैल 04, मंगलवार 2023चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 04:06 अपराह्न को होगा
  • अप्रैल 06, गुरुवार 2023शुक्र का वृषभ राशि में प्रवेश प्रातः 11:02 बजे
  • अप्रैल 07, शुक्रवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश 01:11 AM पर होगा
  • अप्रैल 09, रविवार 2023 चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश प्रातः 08:02 बजे
  • 11 अप्रैल, मंगलवार 2023 चंद्र का धनु राशि में प्रवेश 12:58 अपराह्न को होगा
  • 13 अप्रैल, गुरुवार 2023 चंद्र का मकर राशि में प्रवेश 04:22 PM पर होगा
  • 14 अप्रैल, शुक्रवार 2023सूर्य दोपहर 03:03 बजे मेशा राशि में प्रवेश करेगा
  • सभी पारगमन देखें →

  • मई 02, मंगलवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 12:22 पूर्वाह्न शुक्र का मिथुन राशि में प्रवेश 01:53 अपराह्न
  • 04 मई, गुरुवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश 09:20 AM को होगा
  • मई 06, शनिवार 2023चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश 03:22 अपराह्न
  • 08 मई, सोमवार 2023, चंद्र का धनु राशि में प्रवेश 07:10 PM पर होगा
  • 10 मई, बुधवार 2023मंगल का कर्क राशि में प्रवेश 01:56 अपराह्न को चंद्र का मकर राशि में प्रवेश 09:49 अपराह्न
  • 13 मई, शनिवार 2023 चंद्र 12:18 पूर्वाह्न पर कुंभ राशी में प्रवेश करता है
  • सभी पारगमन देखें →

  • 03 जून, शनिवार 2023 चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश 12:29 पूर्वाह्न
  • 05 जून, सोमवार 2023 चंद्र का धनु राशि में प्रवेश 03:23 AM पर होगा
  • 07 जून, बुधवार 2023 चंद्र का मकर राशि में प्रवेश 04:40 पूर्वाह्न बुद्ध का वृषभ राशि में प्रवेश 07:52 अपराह्न
  • 09 जून, शुक्रवार 2023 चंद्र का कुम्भ राशि में प्रवेश 06:02 AM पर होगा
  • 11 जून, रविवार 2023 चंद्र का मीना राशि में प्रवेश 08:46 AM पर होगा
  • 13 जून, मंगलवार 2023 चंद्र का मेष राशि में प्रवेश 01:32 अपराह्न पर होगा
  • 15 जून, गुरुवार 2023सूर्य का मिथुन राशि में प्रवेश 06:20 PMचंद्र का वृषभ राशि में प्रवेश 08:23 अपराह्न
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 जुलाई, शनिवार 2023मंगल 02:22 AM को सिंह राशि में प्रवेश करेगा
  • 02 जुलाई, रविवार 2023 चंद्र धनु राशि में दोपहर 01:18 बजे प्रवेश करेगा
  • 04 जुलाई, मंगलवार 2023 चंद्र का मकर राशि में प्रवेश दोपहर 01:44 बजे होगा
  • 06 जुलाई, गुरुवार 2023 चंद्र का कुम्भ राशि में प्रवेश 01:38 PM पर
  • 07 जुलाई, शुक्रवार 2023शुक्र सिंह राशि में 04:10 AM पर प्रवेश करता है
  • 08 जुलाई, शनिवार 2023 बुध का कर्क राशि में प्रवेश दोपहर 12:15 बजे चंद्र का मीना राशि में प्रवेश 02:58 बजे
  • 10 जुलाई, सोमवार 2023 चंद्र का मेष राशि में प्रवेश 06:59 PM पर होगा
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 अगस्त, मंगलवार 2023 चंद्र का मकर राशि में प्रवेश 12:16 AM पर होगा
  • अगस्त 02, बुधवार 2023चंद्र का कुम्भ राशि में रात्रि 11:26 पर प्रवेश
  • अगस्त 04, शुक्रवार 2023चंद्र का मीना राशि में प्रवेश रात्रि 11:17 बजे
  • अगस्त 07, सोमवार 2023 चंद्र का मेष राशि में प्रवेश 01:44 AM पर शुक्र का प्रवेश कर्क राशि में 10:56 AM पर होगा
  • अगस्त 09, बुधवार 2023 चंद्र का वृषभ राशि में प्रवेश प्रातः 07:43 बजे
  • 11 अगस्त, शुक्रवार 2023 चंद्र का मिथुन राशि में प्रवेश 04:58 PM पर होगा
  • 14 अगस्त, सोमवार 2023 चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 04:26 AM पर होगा
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 सितम्बर, शुक्रवार 2023 चंद्र का प्रवेश मीना राशि में प्रातः 09:36 बजे होगा
  • 03 सितंबर, रविवार 2023 चंद्र का मेष राशि में प्रवेश 10:38 AM पर होगा
  • सितंबर 04, सोमवार 2023शुक्र 06:50 पूर्वाह्न 2023 को वक्री होगा, गुरु 07:41 अपराह्न 2023 को वक्री होगा
  • सितम्बर 05, मंगलवार 2023चंद्र का वृषभ राशि में प्रवेश अपराह्न 03:00 बजे
  • सितम्बर 07, गुरुवार 2023चंद्र का मिथुन राशि में प्रवेश रात्रि 11:13 बजे होगा
  • 10 सितंबर, रविवार 2023 चंद्र 10:25 AM को कर्क राशि में प्रवेश करता है
  • 12 सितंबर, मंगलवार 2023, चंद्र रात्रि 11:01 बजे सिंह राशि में प्रवेश करता है
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 अक्टूबर, रविवार 2023बुद्ध का कन्या राशि में प्रवेश 08:41 PM पर होगा
  • 02 अक्टूबर, सोमवार 2023शुक्र सिंह राशि में 01:06 AM पर प्रवेश करता है
  • अक्टूबर 03, मंगलवार 2023 चंद्र का वृषभ राशि में प्रवेश 12:15 AM मंगल का तुला राशि में प्रवेश 06:03 अपराह्न
  • 05 अक्टूबर, गुरुवार 2023 चंद्र का प्रवेश मिथुन राशि में प्रातः 06:59 बजे होगा
  • 07 अक्टूबर, शनिवार 2023 में चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 05:18 PM पर होगा
  • 10 अक्टूबर, मंगलवार 2023 चंद्र सिंह राशि में 05:45 AM पर प्रवेश करता है
  • 12 अक्टूबर, गुरुवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 06:16 PM पर होगा
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 नवंबर, बुधवार 2023 चंद्र का मिथुन राशि में प्रवेश 04:12 PM पर होगा
  • 03 नवंबर, शुक्रवार 2023शुक्र कन्या राशि में 05:16 AM पर प्रवेश करता है
  • नवंबर 04, शनिवार 2023चंद्र 01:24 पूर्वाह्न को कर्क राशि में प्रवेश करता है, शनि 12:32 अपराह्न 2023 को वक्री समाप्त होता है
  • 06 नवंबर, सोमवार 2023 चंद्र का सिंह राशि में प्रवेश 01:22 PM बुद्ध का वृश्चिक राशि में प्रवेश 04:27 अपराह्न
  • 09 नवंबर, गुरुवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 02:01 AM पर होगा
  • 11 नवंबर, शनिवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश दोपहर 01:02 बजे होगा
  • सभी पारगमन देखें →

  • 01 दिसंबर, शुक्रवार 2023 चंद्र का कर्क राशि में प्रवेश 10:12 AM पर होगा
  • 03 दिसम्बर, रविवार 2023 चन्द्र का सिंह राशि में प्रवेश रात्रि 09:36 बजे
  • 06 दिसंबर, बुधवार 2023 चंद्र का कन्या राशि में प्रवेश 10:22 AM पर होगा
  • 08 दिसंबर, शुक्रवार 2023 चंद्र का तुला राशि में प्रवेश 09:53 PM पर होगा
  • 11 दिसंबर, सोमवार 2023 चंद्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश प्रातः 06:12 बजे
  • दिसंबर 13, बुधवार 2023 11:05 AM को चंद्र का धनु राशि में प्रवेश 2023 में दोपहर 12:39 बजे बुद्ध वक्री होंगे
  • 15 दिसंबर, शुक्रवार 2023 चंद्र का मकर राशि में प्रवेश 01:44 PM पर होगा
  • सभी पारगमन देखें →

    उज्जैन, मध्य प्रदेश, भारत(+05:30)

    भारतीय ज्योतिष में गोचर का महत्व यह है कि इसका उपयोग भविष्य के बारे में भविष्यवाणी करने के लिए किया जा सकता है। ग्रहों की गति को ट्रैक करके, ज्योतिषी यह जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि आने वाले महीनों और वर्षों में किसी व्यक्ति के जीवन में क्या हो सकता है। इस जानकारी का उपयोग तब लोगों को सलाह देने के लिए किया जा सकता है कि उन्हें अपने जीवन का अधिकतम लाभ उठाने के लिए क्या करना चाहिए।

    वैदिक ज्योतिष में नवग्रह

    वैदिक ज्योतिष प्रणाली में नवग्रह नौ ग्रह (राहु और केतु सहित) हैं। वे पश्चिमी ज्योतिष से इस मायने में भिन्न हैं कि उनमें सूर्य, चंद्रमा और शनि से परे के ग्रह शामिल हैं। यहां नौ वैदिक ज्योतिष ग्रहों की सूची और अंग्रेजी में उनके नाम दिए गए हैं।

    ग्रह का नाम (वैदिक) ग्रह का नाम (पश्चिमी) चंद्र चंद्रमा बुध बुध शुक्र शुक्र सूर्य मंगल मंगल गुरु बृहस्पति शनि शनि राहु उत्तर नोड केतु दक्षिण नोड वैदिक ज्योतिष में गोचर का क्या महत्व है?

    ज्योतिष विशेषज्ञ किसी व्यक्ति के जीवन में घटनाओं के समय का निर्धारण करने और भविष्य के रुझानों के बारे में सामान्य भविष्यवाणी करने के लिए एक भविष्यवाणी उपकरण के रूप में गोचर (राशि चक्र के माध्यम से ग्रहों की गति) का उपयोग करते हैं। जहां गुरु, बुध, मंगल और शनि ग्रहों का गोचर वार्षिक भविष्यफल का आधार बनता है, वहीं मासिक और दैनिक भविष्यफल में क्रमशः सूर्य और चंद्रमा की चाल का विशेष महत्व है।

    गुरु गोचर 2023: बृहस्पति का गोचर इन राशियों के लोगों को कैसे लाभ पहुंचा सकता है, जानें पूर्वानुमान


    Guru Gochar 2023: ज्योतिष में सभी ग्रहों में बृहस्पति को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। बृहस्पति को देवताओं का गुरु भी कहा जाता है। माना जाता है कि ग्रह राशि परिवर्तन या ग्रहों के गोचर से व्यक्ति का जीवन प्रभावित हो सकता है (गुरु गोचर 2023)। ग्रह गोचर को गोचर के रूप में भी जाना जाता है जिसका व्यक्ति के जीवन पर कई प्रभाव हो सकते हैं। साल 2023 में भी कई ग्रह गोचर (Gochar 2023) होने जा रहे हैं जो जातकों के जीवन को प्रभावित करेंगे।
    ज़ी हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, 22 अप्रैल 2023 को बृहस्पति मीन राशि को छोड़कर मेष राशि में 03:33 पर प्रवेश करेगा। होली के बाद बृहस्पति का गोचर कुछ राशियों के लिए विशेष रूप से अनुकूल रहने वाला है। आइए जानते हैं कि बृहस्पति के गोचर के दौरान क्या होगा,
    गुरु का गोचर लाभकारी रहने के आसार हैं।
    गुरु के गोचर के दौरान संतान से संबंधित शुभ समाचार प्राप्त होने की संभावना है
    अविवाहित लोगों के लिए विवाह के योग हैं।
    विवाह में आ रही दिक्कतें कम होने की संभावना है
    कैंसर
    कर्क राशि वालों के लिए कार्यक्षेत्र में बदलाव कार्ड पर देखा जा सकता है।
    इस अवधि के दौरान उद्यमियों या व्यवसायिक व्यक्तियों को लाभ प्राप्त होने की संभावना है।
    बृहस्पति के गोचर काल के दौरान नौकरी के अवसर कार्ड पर हैं 
    आर्थिक सुख की आशा है।
    मीन राशि
    मीन राशि के जातकों के लिए इस अवधि में कार्ड पर धन का प्रवाह अच्छा देखा जा सकता है 
    – अपने प्रतिस्पर्धियों या विरोधियों से सावधान रहें।
    गोचर काल में ससुराल पक्ष से संबंध प्रगाढ़ होंगे। 
    अतिथि या अतिथियों के आने की संभावना है 
    विवाह के योग हैं

    Twspost news times

    Leave a Comment

    Discover more from Twspost News Times

    Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

    Continue reading