झारखंड में बिजली महंगी हो गई है, आपकी जेब पर कितना बोझ पड़ेगा और कितनी यूनिट बिजली मुफ्त मिलेगी? (Electricity has become expensive in Jharkhand, how much burden will fall on your pocket, and how much electricity will be provided free of cost?)

JbVNL

झारखंड में बिजली महंगी हो गई है, आपकी जेब पर कितना बोझ पड़ेगा और कितनी यूनिट बिजली मुफ्त मिलेगी? (Electricity has become expensive in Jharkhand, how much burden will fall on your pocket, and how much electricity will be provided free of cost?)
 (Electricity has become expensive in Jharkhand, how much burden will fall on your pocket, and how much electricity will be provided free of cost?)

Highlights:

Blinking and Highlighted Words

Highlights
मीटर शुल्क नहीं देना होगा
इस तरह मिल सकती है छूट
125 यूनिट बिजली मुफ़्त

Ranchi: झारखंड में बिजली महंगी हो गई है, जिससे आपकी जेबों पर बोझ बढ़ा है। आप कितना बोझ उठा पाएंगे, और कितनी बिजली मुफ्त मिलेगी, यह देखने के लिए क्या होगा? राज्य विद्युत नियामक आयोग ने एक नई बिजली दर की घोषणा की है। कुछ दिनों पहले, जेबीवीएनएल ने बिजली दरों में 39.71 प्रतिशत की वृद्धि का संकेत दिया था। इस प्रस्ताव को नियामक को भेजा गया था। इस प्रस्ताव का विचार करते हुए, 7.66 प्रतिशत की वृद्धि को मंजूरी दी गई है। इसके साथ ही, बिजली उपभोक्ताओं को कुछ लाभ प्रदान करने की भी घोषणा की गई है। पिछले लाभों को जारी रखने का भी उल्लेख किया गया है। नए ऐलान के अनुसार, विभिन्न श्रेणियों के उपभोक्ताओं की जेबों पर बोझ बढ़ गया है।

मीटर शुल्क नहीं देना होगा

नए ऐलान के अनुसार, लोगों को अब किसी भी मीटर शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा। इसके साथ ही, प्रीपेड मीटरिंग की शुरुआत के साथ, बिजली उपभोक्ताओं को उनकी श्रेणी के अनुसार ऊर्जा शुल्क लगाया जाएगा, जैसा कि पहले किया जाता था। इस शुल्क को तीन प्रतिशत की छूट के साथ निर्धारित किया गया है। साथ ही, प्रीपेड मीटर लगने के एक महीने के भीतर पूरी सुरक्षा जमा राशि का भुगतान करने का प्रावधान बनाया गया है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि नई दर की घोषणा से राज्य वितरण कंपनी को लगभग 7075183 करोड़ वार्षिक राजस्व प्राप्त होगा।

इस तरह के संभावित छूट

जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार, ऑनलाइन या डिजिटल मोड के माध्यम से बिजली के बिल का भुगतान करने पर कुल बिल के आधार पर एक प्रतिशत की छूट दी जाएगी। यह अधिकतम 250 रुपये तक हो सकती है। उसी तरह, लोड फैक्टर के मामले में भी राहत प्रदान की जाएगी। यह राहत उन उपभोक्ताओं को मिलेगी जिनका लोड फैक्टर 65 प्रतिशत से अधिक है। इस राहत की अधिकतम सीमा को 15 प्रतिशत निर्धारित किया गया है। इसके अलावा, छत के ऊपर सोलर को प्रोत्साहित करने के लिए एक नीति तैयार की गई है। इसके अंतर्गत, 4116 प्रति किलोवॉट-घंटे और नेट मीटरिंग के लिए 3180 प्रति किलोवॉट-घंटे पर पिछली दरों को नियमित किया गया है।

125 यूनिट बिजली मुफ़्त

झारखंड में, विद्युत उपभोक्ताओं को राहत मिल रही है। नई बिजली दर के तहत, 125 यूनिट तक की बिजली मुफ्त मिलेगी। यह कदम उन लोगों को आर्थिक सहारा प्रदान करेगा जो कम आय वाले हैं और उनके बिजली का उपयोग मामूली मात्रा में है। इस सुविधा के माध्यम से, सरकार गरीब और सामान्य लोगों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए उनकी जीवनधारा को सुधारने का प्रयास कर रही है।

Twspost news times

Leave a Comment

Discover more from Twspost News Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading